इस्लाम धर्म विधवाओं और तलाकशुदा महिलाओं को पुनर्विवाह की अनुमति क्यों देता है

इस्लाम धर्म Polygyny (बहु-विवाह), विधवाओं और तलाकशुदा महिलाओं को पुनर्विवाह की अनुमति अनेक कारणों से देता है। ऐसे कारणों के सम्बन्ध में किसी को कल्पना अथवा परिकल्पना नहीं करनी होती…

0 Comments

तलाक..तलाक..तलाक…जानिए मीडिया द्वारा भद्दा मज़ाक बना दिए गए तलाक की पूरी जानकारी

धर्मों में इस्लाम सबसे पहला धर्म है जिसमें विवाह और विवाह-विच्छेद (Divorce) का आसान और विस्तृत तरीका प्रस्तुत किया। इस्लाम के अनुसार, शादी एक पुरुष और स्त्री के बीच एक…

0 Comments

खदीजा (Khadija) (रजि0) – इस्लाम कबूल करने वाली पहली शख्स और हज़रत मुहम्मद (सल्ल0) की पहली पत्नी

Khadija (RA) - The First person to accept Islam and the First wife of Prophet Muhammad (SAW) मक्का के सर्वाधिक धनवान व्यापारियों में से एक महिला खदीजा (Khadija) (रजि0) थीं…

0 Comments

इस्लाम औरतों को पर्दे में रखकर उनका अपमान क्यों करता है?

इस्लाम और औरत का पर्दा [Islam and Hijab] आज मुस्लिम महिला की सबसे अधिक आलोचना उसके पहनावे के सिलसिले में की जाती है। आज बहुत से लोगों के मन में…

0 Comments

इस्लाम औरत को एक से अधिक पति रखने की अनुमति क्यों नहीं देता?

यदि एक पुरुष को एक से अधिक पत्नी रखने की इजाज़त है तो इसका क्या कारण है कि इस्लाम औरत को एक से अधिक पति रखने की अनुमति नहीं देता?…

0 Comments

इस्लाम मुसलमानों को एक से अधिक पत्नी रखने की इजाज़त क्यों देता है? इस्लाम एक से अधिक विवाह की अनुमति क्यों देता है?

Polygyny (बहु-विवाह) का अर्थ है ऐसी व्यवस्था जिसके अनुसार व्यक्ति की एक से अधिक पत्नी अथवा पति हों । बहु-विवाह दो प्रकार के होते- एक पुरुष द्वारा एक से अधिक…

0 Comments