Ya Mujeebu (या मुजीबु) – अल्लाह तआला के नाम की फ़ज़ीलत

AL-MUJEEB (अल मुजीब) दुआएं सुनने और कुबूल करने वाला अल्लाह तआला मख़लूक़ (बन्दों ) की दुवाओं को सुनता है और कुबूल फरमाता है इसलिए उसे 'मुजीबु' कहा जाता है, क्योंकि…

0 Comments

Ya Majidu (या माजिदु) – अल्लाह तआला के नाम की फ़ज़ीलत

AL-MAAJID (अल माजिद) बुज़ुर्गी और बड़ाई वाला माजिद का मतलब बहुत ही इज़्ज़त व बुज़ुर्गी वाला है । सबसे ज्यादा बुजुर्गी और इज्जत वाला अल्लाह तअला ही है और तमाम…

0 Comments

Ya Wasiu (या वासिउ) – अल्लाह तआला के नाम की फ़ज़ीलत

AL-WAASI’ (अल वासिऊ) कुशादगी देने वाला वासिउ का मतलब होता है बरकत और कुशादगी वाला है, चूंकि अल्लाह की बरकत की कोई इन्तिहा नहीं, इस लिए उसे वासिउ कहा जाता…

0 Comments

Ya Barru (या बर्रु) – अल्लाह तआला के नाम की फ़ज़ीलत

AL-BARR (अल-बर) बड़ा अच्चा सुलूक करने वाला अल्लाह तअला खुद सरासर नेकी वाला है उसकी ज़ात, खूबी और इस़्तियारात से हिकमत और नेकी झलकती है । इस लिए उसे बर्र…

0 Comments

Ya Raqeebu (या रक़ीबु) – अल्लाह तआला के नाम की फ़ज़ीलत

AR-RAQEEB (अर रक़ीब) निगेहबान हिफाज़त के लिए (देखभाल) और निगरानी करने वाले को रकीब कहा जाता है। अल्लाह तआला रकीब है, क्योंकि वह अपने बन्दों की हर चीज़ का निगहबान…

0 Comments

Ya Muqtadiru (या मुक़्तदिरु) – अल्लाह तआला के नाम की फ़ज़ीलत

AL-MUQTADIR (अल मुक्तदिर) पूरी कुदरत रखने वाला अल्लाह मुक़्तदिर है यानी कायनात में सबसे ज्यादा इक्तिदार और ताकत वाला अल्लाह ही है । तमाम चीज़ें उसके कब्ज़ा-ए-कुदरत में हैं ।…

0 Comments

Ya Jalilu (या जलीलु) – अल्लाह तआला के नाम की फ़ज़ीलत

AL-JALEEL (अल जलील) बुज़ुर्ग अल्लाह तआला की ज़ात अपने ज़ाती कमालात की वजह से मुकम्मल व बे ऐब है । इसमें जमाल और जलाल दोनों खूबियां एक साथ मौजूद हैं…

0 Comments

Ya Muakhiru (या मुआख़िरु) Benefits – अल्लाह तआला के नाम की फ़ज़ीलत

मुअख्खिर का मतलब अपनी रहमत से दूर करना है। अल्लाह इस एतबार से मुअख्खिर है कि वह अपने दुशमनों को अपनी रहमत और कुर्ब से दूर कर देता है। ऐसे…

0 Comments