इस्लाम औरत को एक से अधिक पति रखने की अनुमति क्यों नहीं देता?

यदि एक पुरुष को एक से अधिक पत्नी रखने की इजाज़त है तो इसका क्या कारण है कि इस्लाम औरत को एक से अधिक पति रखने की अनुमति नहीं देता?…

0 Comments

इस्लाम मुसलमानों को एक से अधिक पत्नी रखने की इजाज़त क्यों देता है? इस्लाम एक से अधिक विवाह की अनुमति क्यों देता है?

Polygyny (बहु-विवाह) का अर्थ है ऐसी व्यवस्था जिसके अनुसार व्यक्ति की एक से अधिक पत्नी अथवा पति हों । बहु-विवाह दो प्रकार के होते- एक पुरुष द्वारा एक से अधिक…

0 Comments

सल्ल0 | अलै0 | रज़ि0 | पैग़म्बर (सल्ल0) और सहाबा के नाम पढ़ने के शिष्टाचार

Islamic Abbreviation meaning in Hindi जब भी आप कोई इस्लामिक किताब या कोई इस्लामिक ब्लॉग पढ़ते है तो जरूर ही अपने कुछ नामों के आगे ये शब्द लिखे हुए देखे…

0 Comments

Ya Lateefu (या लतीफू) Benefits – अल्लाह तआला के नाम की फ़ज़ीलत

Al-Lateef (अल-लतीफ़) बारीक़ बीं अल्लाह लतीफ़ है, क्यों कि वह अपने बन्दों पर मेहरबानी करता है । उन से नर्मी से पेश आता है । उस के लुत्फो करम का क्या…

0 Comments

Allah Subhanahu Wa Ta’ala के 99 मुबारक नाम (Al Asma Ul Husna)

कुरान मजीद में आया है कि “तमाम नेक नाम अल्लाह के वास्ते हैं, इसलिये तुम अपने पर्वरदिगार को उन ही नामों से पुकारो।” (सुर बनी इबाईल) हदीस शरीफ में अबू…

0 Comments

Azan (अज़ान) क्या है? इस्लाम में अज़ान का क्या अर्थ है?

Azan का परिचय पूरी धरती पर हर मस्जिद में प्रतिदिन पाँच बार नमाज़ या इस्लामी इबादत की जाती है। एक मुसलमान से यह आशा की जाती है कि वह प्रत्येक…

0 Comments

Ya Khabeeru (या ख़बीरु) Benefits – अल्लाह तआला के नाम की फ़ज़ीलत

Al-Khabeer (अल-ख़बीर) सब से बाखबर अल्लाह ख़बीर है । क्यों कि उसे तमाम चीजों की बारीकियों की खबर है। वह छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी चीज़ को हर…

0 Comments