वह्य या वह्यी

« Back to Glossary Index

(Revelation) प्रकाशना, दैवी प्रकाशना, ईश्वरीय संकेत। वह्य का शाब्दिक अर्थ होता है तीव्र संकेत, गुप्त संकेत। अर्थात ऐसा इशारा जो तेज़ी से इस प्रकार किया जाए जिसे वही जान सके जिसको इशारा किया गया हो। परिभाषा में इससे अभिप्राय वह विशेष वय है जिसके द्वारा अल्लाह अपने नबियों को अपनी इच्छा और आदेशों से अवतग कराता है। कुरआन और दूसरे ईश्वरीय धर्मग्रंथों का अवतरण वह्य द्वारा ही हुआ है।