तहज्जुद

« Back to Glossary Index

नींद तोड़ कर उठना। इससे अभिप्राय वह नमाज़ है जो रात के एक हिस्से में सो लेने के पश्चात उठ कर पढ़ी जाती है। सोने से पहले भी यह नमाज़ पढ़ सकते हैं।