तकवा

« Back to Glossary Index

डर रखना, संयम, धर्म परायणता, परहेज़गारी। तकवा का धात्वर्थ है बचना, किसी चीज़ से पहुंचने वाली हानि से अपने आप को बचाना, किसी आपदा से डरना, अल्लाह की अवज्ञा से बचना और उसकी नाराजगी से बचना तकवा वास्तव में वह एहसास और मनोभाव है जो अल्लाह के डर से मन में पैदा होता है, और फिर मनुष्य अल्लाह के आदेशों के पालन में लग जाता है और उसकी अवज्ञा से बचने की कोशिश करता है। अच्छे वस्त्र की तरह तक़वा भी मनुष्य के आत्मिक सौंदर्य को बढ़ाता है। इससे अनिवार्यतः उसके जीवन में सुंदरता और पवित्रता आ जाती है।